छत्तीसगढ़ सरकार राजीव गांधी युवा मितान क्लब के सदस्यों को पर्यटन से जुड़ा प्रशिक्षण देगी। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मंगलवार को इसकी घोषणा की। वे विश्व पर्यटन दिवस पर रायपुर के एक होटल में आयोजित टूरिज्म कान्क्लेव को संबाेधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने कहा, छत्तीसगढ़ के युवा जब पर्यटन के प्रति जागरूक होंगे तो प्रदेश के पर्यटन को और ज्यादा बढ़ावा मिलेगा।

यह भी पढ़े- https://unique24cg.com/online-applications-are-invited-to-empanel-the-news-websites-of-chhattisgarh-state-for-advertisement/

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, एक समय था जब छत्तीसगढ़ का नाम लेते ही लोगों के जेहन में सिर्फ खनिज संसाधन और नक्सलियों का ख्याल आता था। लंबे समय तक छत्तीसगढ़ का पर्यटन उपेक्षित रहा और नया राज्य बनने के बाद भी पूरा ध्यान सिर्फ नक्सल समस्या पर ही था। छत्तीसगढ़ में इतना सब कुछ है कि सिर्फ प्रकृति से मिले उपहारों को ही हम व्यवस्थित कर लें तो यह स्थान पर्यटकों की पहली पसंद बन जाएगा। हमारी सरकार इसी बात पर निरंतर काम कर रही है। मुख्यमंत्री ने कहा, छत्तीसगढ़ एक ऐसा प्रदेश है जिसकी गैर मौजूदगी में रामायण जैसी पौराणिक कथा भी अधूरी रह जाएगी।

भगवान श्री राम ने अपने वनवास का अधिकतर समय छत्तीसगढ़ में ही गुजारा और यहीं पर उनकी मां कौशल्या निवास करती थीं। मुख्यमंत्री ने कहा कि पूरी दुनिया में छत्तीसगढ़ ही एक मात्र ऐसा राज्य है जहां देवताओं को भी सजा देने का प्रावधान है। लिहाजा छत्तीसगढ़ के बारे में पूरी दुनिया को बताने की जरूरत है ताकि लोग यहां की सभ्यता और संस्कृति को जानें। इस मौके पर संसदीय सचिव चिंतामणि महाराज, पाठ्य पुस्तक निगम के अध्यक्ष शैलेष नितिन त्रिवेदी, खनिज विकास निगम के अध्यक्ष गिरिश देवांगन, छत्तीसगढ़ पर्यटन मंडल के अध्यक्ष अटल श्रीवास्तव, उपाध्यक्ष चित्रलेखा साहू, पर्यटन विभाग के सचिव अनबलगन पी. और पर्यटन मंडल के एमडी अनिल साहू आदि मौजूद रहे।

पर्यटन मंत्री ताम्रध्वज साहू ने कहा कि कोरोना संकट होने के बाद भी छत्तीसगढ़ में ट्राइबल टूरिज्म सर्किट तैयार किया गया। मुख्यमंत्री के निर्देश पर राम वन गमन परिपथ पर भी काम शुरू हुआ। अब उन्होंने संसदीय सचिव चिंतामणि महाराज से मिले सुझाव को स्वीकार किया है। इसमें प्रदेश की सबसे ऊंची चोटी गौरलाटा को भी पर्यटन के लिहाज से विकसित किया जाएगा।

टूरिज्म कान्क्लेव में छत्तीसगढ़ पर्यटन मंडल और केंद्र सरकार के उपक्रम इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉर्पोरेशन-IRCTC के बीच एक समझौता हुआ। मुख्यमंत्री की मौजूदगी में दोनों ओर से अफसरों ने इसपर एमओयू पर हस्ताक्षर किए। इस समझौते के तहत IRCTC अपने सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर छत्तीसगढ़ के पर्यटन स्थानों का भी प्रचार- प्रसार करेगा। उम्मीद है कि इससे देश के सभी राज्यों के पर्यटकों को छत्तीसगढ़ के स्थलों की जानकारी मिलेगी और वे यहां भी आएंगे।

हमें instagram पर फ़ॉलो करें…..👉 unique24cg.com (@unique24cg) • Instagram photos and videos

पर्यटन मंडल के अध्यक्ष अटल श्रीवास्तव ने कहा, आज युवा वर्ग की मांग को ध्यान देने की आवश्यकता है क्योंकि ज्यादातर युवा ही पर्यटन को पसंद करने लगे हैं। उन्होंने कहा है कि पर्यटन मंडल छत्तीसगढ़ में एग्रो टूरिज्म को बढ़ावा देने का प्रयास कर रहा है। ऐसा लोगों की रुचि को ध्यान में रखकर किया जा रहा है। यह भी है कि लोग गांव और किसानों से भी जुड़ सकें।

देश दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए,

हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें 👇

Unique 24 CG – YouTube

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *